PM Kisan Samman Nidhi Yojana

PM Kisan: किसानों को जल्द मिलेगी गुड न्यूज, होली से पहले जारी होगी 13वीं किस्त! खाते में आएंगे 2000,अपडेट्स जानें

PM Kisan: किसानों को जल्द मिलेगी गुड न्यूज, होली से पहले जारी होगी 13वीं किस्त! खाते में आएंगे 2000,अपडेट्स जानें

 

PM Kisan :नमस्कार दोस्तों आप सभी को हमारी इस नए आर्टिकल में स्वागत है दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं पीएम किसान सम्मान निधि योजना के 13वी किस्त के बारे में तो दोस्त को इसके बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे आर्टिकल के अंत तक ध्यान पूर्वक जरूर पढ़ें और दोस्तों आपको बता दें कि जिन किसानों ने अबतक KYC नहीं करवाई है वे जल्द करवा लें, क्योंकि पीएम किसान योजना में रजिस्टर्ड किसानों के लिए ईकेवाईसी (eKYC) जरूरी है। जिन किसानों ने ई केवाईसी की प्रक्रिया पूरी कर ली है, केवल उन्हीं किसानों के खाते में 2000 रुपए जारी किए जाएंगे, अन्य को इसका लाभ नहीं मिलेगा।

PM Kisan Yojana 2023 : पीएम किसान सम्मान निधि योजना के 11 करोड़ किसानों के लिए महत्वपूर्ण खबर है। 13वीं किस्त पर नया अपडेट सामने आया है। ताजा मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, होली से पहले फरवरी के दूसरे या तीसरे हफ्ते में किस्त की राशि जारी की जा सकती है,इसको लेकर प्रक्रिया शुरू हो गई है। हालांकि सरकार की तरफ से तारीख को लेकर अभी तक कोई अपडेट नहीं आया है, वही योजना में गड़बड़ी करने या फर्जी तरीके से लाभ लेने वालों पर भी कार्रवाई जारी है।

जिन किसानों ने अबतक KYC नहीं करवाई है वे जल्द करवा लें, क्योंकि पीएम किसान योजना में रजिस्टर्ड किसानों के लिए ईकेवाईसी (eKYC) जरूरी है। जिन किसानों ने ई केवाईसी की प्रक्रिया पूरी कर ली है, केवल उन्हीं किसानों के खाते में 2000 रुपए जारी किए जाएंगे, अन्य को इसका लाभ नहीं मिलेगा। अधिक जानकारी और अपडेट्स के लिए किसान अधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in पर विजिट करते रहे ।PM Kisan

क्या कहता है नियम

दोस्तों आपको बता दें कि योजना के तहत, पहली किस्त 1 अप्रैल से 31 जुलाई के बीच, दूसरी 1 अगस्त से 30 नवंबर और तीसरी 1 दिसंबर से 31 मार्च के बीच आती है। हालिया मीडिया रिपोर्ट्स में भी कहा जा रहा था कि जनवरी तक किस्त जारी कर दी जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ, अब चुकी बजट पेश हो चुका है, ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि 20 फरवरी तक 13वीं किस्त के 2000-2000 किसानों के खाते में भेजे जा सकते है।हालांकि डेट को लेकर सरकार द्वारा पुष्टि नहीं की गई है।PM Kisan

सरकार ने किया ये ट्वीट

आपको जानकारी के लिए बता दें कि एग्रीकल्चर इंडिया ने ट्वीट कर बताया है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 11.37 करोड़ से अधिक लाभार्थी किसानों ने पंजीकरण करवाया हुआ है। पीएम किसान योजना के तहत भारत सरकार द्वारा लाभार्थी किसानों को प्रतिवर्ष 6000 रूपये की आर्थिक सहायता दी जाती है।

PM Kisan Yojana :सभी किसानों के लिए खुशखबरी, खाते में आए 2000 रुपए, यहां से चेक करें अपना स्टेटस..

53 हजार किसानों से वसूली जाएगी राशि

छत्तीसगढ के रायगढ़ जिले में 2 साल पहले प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के नाम पर करोड़ों रुपए का फर्जीवाड़ा सामने आया था, जिसमें लगभग 17000 अपात्र किसानों ने फर्जी तरीके से ऑनलाइन के माध्यम से रजिस्ट्रेशन कर फर्जीवाड़ा किया था, जिसकी संख्या बढ़कर 53 हजार हो गई है, जिनसे लगभग 43 करोड़ रुपए की राशि वसूल की जानी है, ऐसे में कृषि विभाग अब अपात्र किसान की सूची तैयार कर राजस्व विभाग से वसूलने की प्रयास कर रही है।PM Kisan

e KYC ऑनलाइन ऐसे करें

  • सबसे पहले पीएम किसान वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं।
  • ‘फार्मर्स कॉर्नर’ के नीचे लिखे e KYC टैब पर क्लिक करें।
  • जो पेज खुलेगा, वहां आधार नंबर की जानकारी देकर सर्च टैब पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा।
  • फिर सबमिट ओटीपी पर क्लिक करें और ओटीपी डालकर सबमिट करें।
  • आपकी ईकेवाईसी प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।

PM KISAN- ऐसे चेक करें अपडेट

  • सबसे पहले पीएम किसान योजना के आधिकारिक पोर्टल pmkisan.gov.in पर जाना होगा
  • इसके बाद आपको बेनिफिशियरी स्टेटस पर क्लिक करना है,
  • फिर आपको अपना रजिस्ट्रेशन नंबर या फिर रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर दर्ज करना है।
  • अब आपको स्क्रीन पर दिया हुआ कैप्चा कोड दर्ज करना है।फिर सबमिट वाले बटन पर क्लिक कर दें।
  • ऐसा करते ही आपको अपना स्टेटस दिखने लगेगा।
  • यहां आपको देखना है कि पात्रता, ई-केवाईसी और लैंड सिडिंग के आगे क्या मैसेज लिखा है ।
  • अगर इन तीनों के आगे ‘YES’ लिखा है, तो आपको किस्त के पैसे मिल सकते हैं,
  • लेकिन अगर इनमें से किसी एक के भी आगे ‘नो’ लिखा है तो आप किस्त से वंचित रह सकते हैं।
PM Kisan Click here
Official website Click here

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *